ऐ काश कोई खुशियों की दुकान होती

ऐ काश कोई खुशियों की दुकान होती,
और मुझे उसकी पहचान होती, खरीद
लेता आपके लिए हर एक ख़ुशी,
चाहे उसकी कीमत मेरी जान होती।

Leave a Comment